दुआ

Posted 9/16/2018

 

मैं जानता हूँ डर है तुमको
ये रास्ते हमारे ना हो जायें जुदा
रूठूँ कभी मैं या तू नाराज़ हो
यारी ये गहरी रहेगी सदा

तुझसे नहीं कोई शिकवा मुझे
ना मेरे से है तुझको गिला
टकराव होते विचारों के हैं
कहे तू बुरा या कहूँ मैं भला

चाहूँगा हर दम ये तेरे लिए
जीवन में राहें सही तू चुने
ख़ुश तू रहे हो तू आबाद
दुआ है मेरी तू बरसों जिए