फिर मिलते हैं

Posted 7/27/2019


कोई तो है जहाँ
जिधर तू आबाद है
इधर तो तेरी हँसी
तेरी बातें तेरी याद है

मिलते होंगे वहाँ पर भी
सालगिरह के मुबारक तराने
अपने भी मिल गए होंगे
दोस्त कुछ नए पुराने

जितनी हमको है आती
तुम्हें भी तो आती होगी
फ़िलहाल तो इतना यक़ीन है
तुम से फिर मुलाक़ात होगी

FB

Twitter

Instagram

YouTube